Wednesday, October 7, 2009

ललित मोदी की क्रिकेटया राजनीती !

दोस्तों,
आज कोई भी हिन्दुस्तानी क्रिकेट के विषय पर आपस में बाते कर के राजी नहीं है क्यों की जो उम्मीदे हम ने टीम इंडिया से लगायी थी वो सारी धुल में मिल गयी / ख़ास कर चैम्पियन ट्रोफी की बदमजा हार के बाद तो कोई भी क्रिकेट सोचना तक नहीं चाहता है परन्तु मेरे दिलो दिमाग में हार के कारणों को खोज निकालने के लिए बेचैन था और मैंने वो प्रमुख वजह खोज निकाली है और वो है ललित मोदी !
ललित मोदी वो वाहिद शख्श है जो भारतीय क्रिकेट को गर्त में मिलाने को कसम खाए बैठा है / सन 1985 में  ड्यूक  युनीवरसिटी अमेरिका में जब ललित मोदी स्नातक की शिछा ले रहा था 400 ग्राम तो कोकीन रखने और किडनेपिंग जैसे गंभीर अपराध में दो वर्ष सजा की हुई परन्तु प्रोबेसन पर हुआ रिहा [देखे वर्ल्डकिपिदिया]
सन में 2007 जयपुर में जो बम विस्फोट हुआ उस दौरान पीडितो को 6 करोड़ का चेक जो दान में दिया वो आजतक कैश नहीं हुआ / मुम्बई हाई कोर्ट में भी ललित मोदी के खिलाफ मुक्क्दमे रहे है 420 और 467 धारा से मुत्तालिक है जो / राजस्थान कई क्रिकेट बोर्ड के खातो में रकम घोटाले का आरोप लग चूका है / दिल्ली में जन्मे ललित मोदी अत्यंत सम्पन्न लोगो की तरह जीवन बसर करते है / एक पुत्र और एक पुत्री के पिता है ललित मोदी / पुत्र रुचिर और पुत्री अलिया अत्यंत हाई फाई स्कूल में मुम्बई में पढ़ते / समस्त परिवार को निकोलस नाम की कंपनी सुरक्षा प्रदान करती है वो भी अलग अलग जिसका भुक्तान आई पि एल यानि बी सी सी आई करती है है / इतनी सारी खूबियों वाले ललित मोदी आई पि एल के अध्यक्ष और बी सी सी आई, चैम्पियन लीग जैसे अनेक क्रिकेट संबध प्रकोष्ठों में उच्च पदाधिकारी है / आई पि एल फोर्मेट इनकी ही दें है जिसने खिलाडियों को खेल से ज्यादा धन की परवाह करना सिखाया है / ललित मोदी की ललित कला ने क्रिकेट का सत्यानाश कुछ इस कदर है की कुछ क्रिकेट पंडित तो वन दे मैच फोर्मेट समाप्त करने की मांग करने लगे है किया / यानि जब सुपर फास्ट 20/20 मौजूद है तो 50/50 का क्या काम / जाहिर है तकनिकी तौर पर क्रिकेट का कत्ल / परन्तु इस चक्कर अत्यधिक में क्रिकेट हो रहा है जो वीरेंदर सहवाग, जाहिर खान, है रूद्र प्रताप सिंह और युवराज सिंह जैसे चोट खाए खिलाडियों की फौज खड़ी कर रहा है जो जब भी देश को जरूरत पड़े उपलब्ध नहीं रहते और नतीजे में देश हार जाता /

खिलाडी पैसा बनाये वो धनि हो हम्मे एतराज नहीं मगर देश हार जाये और वो भी थके थके खेल की वजह से तो हम्मे पूरा एतराज है / ललित मोदी जैसे ललित कलाकारों ने क्रिकेट को तबाह कर दिया है परन्तु जब तक उच्च लेवल पर शरद पवार, अरूण जेतली और राजीव शुक्ल जैसे राजनीती के धुरंधर बैठे है भलाई की उम्मीद करना बेकार है क्यों की ये अपने रसूख का इस्तेमाल करके क्रिकेट की लोकप्रियता का लाभ पाने के लिए मनचाहा प्रयोग करते रहेंगे / अबतो इश्वर ही क्रिकेट को जीवित रख सकता है / थैंक्स /

1 comment:

Babli said...

Wish you and your family a very happy and prosperous Diwali.